Sweet Boondi
Sweet Boondi

Sweet Boondi – मीठी बूंदी : बूँदी या नुक्ति दो प्रकार की बनाई जाती है. फीकी बूँदी को हम रायते मे इस्तेमाल करते है और मीठी बूँदी को खाने के लिए या लड्डू बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है | आपने प्रसाद के लिए भी कई बार मीठी बूँदी का उपयोग किया होगा | बूँदी बनाने के लिए बारीक बेसन का इस्तेमाल किया जाता है | बूंदी बनाने के लिये छेद वाली झविया या कलछी का इस्तेमाल किया जाता है | छेद जितने छोटे या बड़े होते हैं बूंदी भी उसी हिसाब से छोटी या बड़ी बनती है | बारीक बूंदी बनाकर मोतीचूर के लड्डू बनाये जाते है | आज हम यहाँ मीठी बूंदी बना रहे हैं | ऐसी और रेसिपीज को देखने के लिए यहा क्लिक करे |

आवश्यक सामग्री – Ingredients for Sweet Boondi

बेसन – 200 ग्राम
चीनी – 600 ग्राम
घी या रिफाइन्ड आयल – तलने के लिये.

विधि – How to Make Sweet Boondi

बेसन को छान कर किसी बर्तन में लीजिये | अब इसका घोल बनाइए | इसके लिए बेसन में आधा कप पानी मिलाकर गाड़ा घोल बनाइये | अब थोड़ा थोड़ा पानी डालकर घोल को पतला कीजिये | घोल इतना गाड़ा होना चाहिये कि घोल जब झावे के ऊपर डाला जाय तो वह बूंद बूंद करके झावे के छेद से गिरे | बेसन के घोल में गुठलियां नहीं रहनी चाहिये और यह ज़्यादा पतला भी नही होना चाहिए | घोल को अच्छा चिकना होने तक खूब फैटिये | अब इस घोल में 2 टेबल स्पून तेल डालिये, और थोड़ा और फैंट लीजिये | तैयार घोल को 15 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये | बेसन का घोल बूंदी बनाने के लिये तैयार है |

तब तक बूंदी के लिये चाशनी बना लेते हैं | हमे एक तार की चाशनी बनानी है | चीनी को बर्तन में डाले और चीनी से आधा पानी डालकर चाशनी बनने के लिये गॅस पर रखे | पानी में उबाल आने पर इसमे एक टेबल स्पून दूध डाले और झाग आने पर यह झाग कल्छी से बाहर निकाल दीजिये |  इसे निकालने से चाशनी साफ बनती है | उबाल आने के बाद लगभग 5 मिनट इसे पकाए | अब चाशनी को चैक करे इसके लिए 1 बूंद चाशनी उंगली और अंगूठे के बीच चिपका कर देखे | चाशनी उंगली और अंगूठे के बीच हल्की सी चिपकनी चाहिये, इसका मतलब है कि चाशनी बन चुकी है |

अब एक भारी तले की कढ़ाई में रिफाइन्ड डालकर गरम करे | चेक करने के लिए बेसन के घोल की एक बूंद कढ़ाई में डालकर देखिये | यदि वह तुरन्त सिककर तैरकर तेल के ऊपर आ जाती है तो तेल पर्याप्त गरम है और यदि बेसन तली में ही पड़ा रहता है तो तेल को और गरम करने की आवश्यकता है |

अब झावे को तेल के थोड़ा ऊपर रखिये और बेसन का घोल एक बड़ा चमचा भर कर झावे के ऊपर डालिए | झावे से घोल निकल कर तेल में गिरने लगेगा और बूँदी तैरने लगती है | आप झावे को कढ़ाई के ऊपर खटखटा कर (जैसे हलवाई डालते है) बूंदी तेल में गिरा सकते हैं | बूंदी को कल्छी से हिला दीजिए और बूंदी के हल्का सा रंग बदलने और कुरकुरे होने पर इसे गहरी कल्छी से बूंदी को निकाल लीजिए | इस तैयार बूँदी को सीधे ही चाशनी में डुबा दीजिये |
सारे घोल से इसी प्रकार बूंदी बनाकर चाशनी में डालकर डुबा दीजिये | चाशनी में बूंदी को कल्छी से उलट पलट दीजिये | थोड़ी ही देर में बूंदी चाशनी को सोख कर मुलायम हो जाएगी | ठंडी होने पर आपकी मीठी बूंदी खाने के लिए तैयार है |

बूंदी एकदम ठंडी होने के बाद एअर टाइट कन्टेनर में भर कर रख लीजिये |

नोट

1) यदि आप को फीकी बूँदी चाहिए तो इसे चाशनी मे मत डालिए | तलने के बाद ठंडी होने पर एअर टाइट डब्बे मे रख लीजिए |
2) बूंदी गोल बने इसके लिये बेसन का घोल पर्याप्त गाड़ा हो | यदि बूंदी लम्बी हो रही है तब घोल को थोड़ा सा गाड़ा और करने की आवश्यकता है, तेल का तापमान भी सही होना चाहिये |

 

Air Tight Jar Amazon से खरीदने के लिए क्लिक करे – https://amzn.to/2RrrEFT

दोस्तों हमारे साथ यूट्यूब पर जुड़े रहने के लिए Ghar Grihasti चैनल को निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके सब्सक्राइब करे धन्यवाद |

https://www.youtube.com/channel/UCVfaSe1Mv2y_Xn-ZGYv5Yqw?sub_confirmation=1

दोस्तों ऐसी और रेसिपी वीडियोस के लिए आप मेरे दूसरे चैनल Cook With Smriti को भी सब्सक्राइब कर सकते है, इस के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे |

https://www.youtube.com/channel/UCIRIiUPOqcxcHRWcU7GfgWA?sub_confirmation=1

(Visited 53 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here