फूड वेस्ट से पौधों का पोषण – Use Food Waste to Grow Plants

हर घर मे पेड़-पोधे तो ज़रूर होते है, किसी घर मे बड़ा सा बगीचा तो किसी घर की बालकनी मे लगे हुए गमले घर की खूबसूरती के साथ-साथ हमारे पर्यावरण को भी बेहतर बनाते है. अक्सर लोग पोधो के बेहतर पोषण और मिट्टी की उर्वरक क्षमता के लिए केवल खाद पर ही निर्भर होते है.
क्या आप जानते है कि बिना खाद पर पैसे खर्च किए भी आप अपने पोधो को पोषण दे सकते है. बाज़ार से रासायनिक खाद खरीदने की बजाय अपनी रसोई से निकले फलों के छिलके और खराब सब्जियों का उपयोग करिये.

केला- केले के छिलके गमले या क्यारी की मिट्टी मे गड्ढा करके दबा दीजिए. यह पोटेशियीम का अच्छा स्रोत है, आप चाहे तो खराब केले को पानी मे मसल कर भी मिट्टी मे डाल सकते है.

आलू – अगर आप गुलाब की कलम लगा रहे है तो उसके आख़िरी छोर को छोटे से सड़े आलू मे फसा कर मिट्टी मे लगा सकते है. यह जड़ के निकलने तक नमी बनाए रखता है. ध्यान रखें कलम की मोटाई कम से कम एक पेन्सिल जितनी हो.

संतरा – यदि पोधो पर चीटियों ने डेरा डाल लिया है, तो संतरे के छिलकों को पानी के साथ मिक्सर में पीस लीजिए और तैयार घोल को पोधो के आस पास छिड़क दीजिए. इसकी महक से चीटियाँ भाग जाएँगी.

दाल चावल का पानी – दाल या चावल को पकने से पहले हम पानी मे अक्सर कुछ देर भिगो के रखते है,इस पानी को पकने से पहले आप यूँ ही फेंक देते है अगली बार जब आप दाल या चावल को भिगोये तो उसका पानी पोधो मे डाल दे इससे उन्हे पोषण मिलेगा.

अंडे के छिलके – जिन पोधो को केल्शियम की ज़रूरत होती है उनकी क्यारी मे कभी कभी आप अंडे के छिलके बारीक़ टुकड़ों मे तोड़ कर डालें.

उबले आलू – जब भी आप आलू उबाले तो उनका पानी ठंडे होने के बाद पोधो मे डाले.

चाय पत्ती – चाय बनाने के बाद इस्तेमाल की हुई चाय पत्ती आप गुलाब के पोधो मे डाले.

इसके अलावा आप एक छोटा सी बाल्टी ले लें और उसमे सब्जी व फलों के छिलके डाल दें थोड़ा पानी भी डाले 3,4 दिन बाद यह पानी पोधो मे डालिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here